इस लेख में

एक कड़ी मेहनत करने वाले, लक्ष्य-उन्मुख और सर्वगुण संपन्न व्यक्ति के रूप में, मैं हमेशा अपने हर काम में गुणवत्तापूर्ण काम करने का प्रयास करता हूं। जीवन में चुनौतीपूर्ण कार्यों का सामना करते हुए, मैंने समस्याओं को हल करने के लिए तर्कसंगत और रचनात्मक रूप से सोचने की आदत विकसित की है, जो न केवल मुझे एक व्यक्ति के रूप में, बल्कि एक पेशेवर के रूप में भी विकसित होने में मदद करती है।

और पढ़ेंLinkedin

शुद्धिकारक

Tamta Suladze

तमता जॉर्जिया में स्थित एक कंटेंट राइटर है, जिसके पास समाचार आउटलेट, ब्लॉकचेन कंपनियों और क्रिप्टो व्यवसायों के लिए वैश्विक वित्तीय और क्रिप्टो बाजारों को कवर करने का पांच साल का अनुभव है। उच्च शिक्षा की पृष्ठभूमि और क्रिप्टो निवेश में व्यक्तिगत रुचि के साथ, वह नए क्रिप्टो निवेशकों के लिए जटिल अवधारणाओं को आसानी से समझने वाली जानकारी में तोड़ने में माहिर हैं। तमता का लेखन पेशेवर और प्रासंगिक दोनों है, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि उसके पाठकों को मूल्यवान अंतर्दृष्टि और ज्ञान प्राप्त हो।

और पढ़ेंLinkedin
शेयर

2024 में अपना खुद का फोरेक्स ब्रोकर कैसे शुरू करें

आर्टिकल्स

Reading time

फोरेक्स उद्योग ने वैश्विक संकटों से प्रभावित होने के बावजूद वापसी करके और हस्टपुष्ट हो कर उल्लेखनीय क्षमता का प्रदर्शन किया है। आंशिक रूप से, यह दुनिया भर की सरकारों के समर्थन के कारण हुआ है, जो आज की परस्पर और वैश्वीकृत विश्व अर्थव्यवस्था में फोरेक्स क्षेत्र के महत्व को मान्यता देते हैं और आवश्यकता पड़ने पर सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए अपेक्षित कार्रवाई करते हैं।

ऑनलाइन रिटेल फोरेक्स ट्रेडिंग ने हाल के वर्षों में काफी लोकप्रियता हासिल की है और इसकी सुविधााओं और पहुंच के कारण इसके और अधिक बढ़ने की उम्मीद है। जिसके परिणामस्वरूप ऑनलाइन फोरेक्स ब्रोकरेज की मांग में बढ़ोत्तरी हो रही है।

इस लेख में आपको बताया जाएगा कि फोरेक्स ब्रोकरेज कंपनी क्या होती है और ये कम्पनियाँ कैसे बनाई जाती है। आप यह भी सीखेंगे कि असानो चरणों का पालन करके 2024 में शून्य से अपना खुद का फोरेक्स ब्रोकर कैसे शुरू करें।

ध्यान रखने योग्य बातें

  1. एक फोरेक्स ब्रोकरेज फर्म उपयोगकर्ताओं और पूंजी बाजारों के बीच एक मध्यस्थ होते है, जो ट्रेडिंग उपकरणों की एक बड़ी सूची तक सीधी पहुंच प्रदान करती है।
  2. अधिकांश FX ब्रोकरेज हाउस, दो मॉडलों पर काम करते हैं – डीलिंग डेस्क और नॉन-डीलिंग डेस्क, जिनमें से प्रत्येक की अपनी विशेषताएं, फायदे और नुकसान होते हैं।

फोरेक्स ब्रोकर कंपनी क्या होती है?

एक फोरेक्स ब्रोकर एक विशेष कंपनी है जो एक ट्रेडर और करेंसी एक्सचेंज के बीच मध्यस्थ का कार्य करती है। इसे डीलिंग सेंटर भी कहा जाता है, जो विभिन्न वित्तीय उपकरणों और विश्लेषण तक पहुंच प्रदान करता है। 

इसके अलावा, विशेषज्ञों की एक टीम की मदद से लेनदेन को पूरा करने के लिए आवश्यक सभी दस्तावेजों को ठीक से निष्पादित करने में मदद मिलती है।

Forex Broker Types

जब विदेशी मुद्रा ब्रोकरेज हाउसों की बात आती है, तो मुख्य रूप से दो प्रकार मॉडल मौजूद होते हैं – डीलिंग डेस्क (जिन्हें मार्केट मेकर भी कहा जाता है) और नॉन-डीलिंग डेस्क। डीलिंग डेस्क के मामले में, फोरेक्स ब्रोकर इंटरबैंक मार्किट कोटेशन को प्रतिबिंबित करके और अपने ग्राहकों को इन कीमतों की पेशकश करके एक बाजार बनाता है।

इसके अलावा, विशेषज्ञों की एक टीम की मदद से लेनदेन को पूर्ण करने के लिए आवश्यक सभी दस्तावेजों को ठीक से निष्पादित करने में मदद करता है।

dealing desk brokers

दूसरी ओर, नॉन-डीलिंग डेस्क अपने ग्राहकों के ऑर्डर को लिक्विडिटी प्रोवाइडर्स तक पहुंचाते हैं, और लिक्विडटी पूल से, सर्वोत्तम कोटेशन प्राप्त करते है और अपने रिटेल ग्राहकों को पेश करते है।

Non-dealing desk

फोरेक्स व्यापार में, ब्रोकर्स को उनकी संगठनात्मक संरचना के आधार पर वर्गीकृत किया जा सकता है। ऐसी ही एक श्रेणी नॉन-डीलिंग हाउस ब्रोकर्स की है, जो आम तौर पर व्यापारियों को ECN (इलेक्ट्रॉनिक कम्युनिकेशन नेटवर्क) या STP (स्ट्रेट-थ्रू प्रोटोकॉल) निष्पादन तक पहुंच प्रदान करते हैं। 

हालाँकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि बाजार में विभिन्न प्रकार के ब्रोकर मौजूद हैं, जिनमें से कुछ नॉन-डीलिंग स्थितियों के साथ काम करते हैं, जिससे वे एक हाइब्रिड फोरेक्स ब्रोकर का रूप ले लेते हैं। ट्रेडर्स को अपनी आवश्यकताओं और ट्रेडिंग शैली के लिए सबसे उपयुक्त ब्रोकर चुनने के लिए इन ब्रोकरों के प्रकारों के बीच का अंतर समझना चाहिए।

व्हाइट लेबल मॉडल के अलावा, इसके फ्रेमवर्क के भीतर कोऑपरेशन के लिए एक और विकल्प है जिसे ग्रे लेबल कहा जाता है, जिसका तात्पर्य कंपनी के तैयार समाधानों का उपयोग करने और कम लागत पर एक सरलीकृत मॉडल से है।

महत्वपूर्ण तथ्य

फोरेक्स ब्रोकर कंपनी निर्माण मॉडल्स

फोरेक्स ब्रोकरेज कंपनी बनाना, साथ ही किसी भी प्रकार का व्यवसाय बनाना, एक चुनौतीपूर्ण कार्य है। एक ओर, इसके लिए योजना, विश्लेषण और प्रबंधन में पेशेवर कौशल और व्यावसायिक प्रक्रियाओं की सहज समझ की आवश्यकता होती है। दूसरी ओर, इसमें समय, पूंजी और मेहनत सहित महत्वपूर्ण संसाधनों की आवश्यकता भी शामिल होती है।

FX क्षेत्र में विकास की बदौलत, काम की बारीकियों, व्यक्तिगत आवश्यकताओं और प्रत्येक ग्राहक की मांगो को ध्यान में रखते हुए, फोरेक्स ब्रोकरेज फर्म को बहुत तेजी से, अधिक सुविधाजनक और अधिक विश्वसनीय रूप से शुरू करने में मदद करने के लिए कई नए मॉडल सामने आए हैं।

1. व्हाइट लेबल मॉडल

व्हाइट लेबल सिस्टम पर आधारित फोरेक्स ब्रोकर व्यवसाय मॉडल प्रत्येक ग्राहक के लिए एक व्यक्तिगत दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए, सबसे लोकप्रिय और प्रभावी पहलों में से एक है, जो समय-परीक्षणित है और FX के क्षेत्र में आधुनिक समाधानों के सभी लाभों का उपयोग करके फोरेक्स ब्रोकर शुरू करने के लिए एक शक्तिशाली उपकरण साबित हुआ है।

white label forex broker model

व्हाइट लेबल मॉडल किसी भी प्रारूप और आकार के स्टार्टअप को फोरेक्स बाजार में जल्दी और सुरक्षित रूप से प्रवेश करने और इसके संचालन के पीछे की सरल कांसेप्ट के कारण करेंसी पेयर और अन्य निवेश उपकरणों के व्यापार से संबंधित सेवाएं प्रदान करना शुरू करने में सक्षम बनाता है। 

रेडीमेड इंफ्रास्ट्रक्टर, ऑपरेशनल समर्थन और बेहतरीन अनुकूलन क्षमताएं, उपयोगकर्ता की मांग और बाजार की स्थितियों में बदलाव की गतिशीलता को ध्यान में रखते हुए, कम से कम समय में और कम लागत पर एक पूर्ण फोरेक्स ब्रोकरेज हाउस लॉन्च करने की अनुमति देती हैं।  

2. टर्नकी सोल्युशन

व्हाइट लेबल मॉडल के विपरीत, टर्नकी फॉरेक्स ब्रोकरेज कंपनी बनाना थोड़ा अधिक जटिल और रचनात्मक प्रक्रिया है, जिसमें डेवलपमेंट, प्रोग्रामिंग, कस्टमाइज़ेशन, डिजाइन, परीक्षण आदि के कई चरण शामिल होते हैं। 

आपके फोरेक्स ब्रोकरेज प्रोजेक्ट को लॉन्च करने के इस तरीके में प्रत्येक कंपनी की व्यावसायिक अवधारणा, उसकी आवश्यकताओं और इच्छाओं की व्यक्तिगत विशेषताओं को ध्यान में रखते हुए, ऐसे समाधानों को विकसित करने और लागू करने में लगी एक विशेष कंपनी के साथ सहयोग शामिल है।

Forex turnkey software solution

एक टर्नकी ब्रोकरेज कंपनी का निर्माण उपयुक्त ट्रेडिंग इंफ्रास्ट्रक्चर और इंटरफ़ेस, वेबसाइट डेवलपमेंट, साथ ही इकोसिस्टम की तैयारी के साथ शुरू होता है, जिसमें लिक्विडिटी स्रोतों का चयन, ऑर्डर एंट्री सिस्टम, पेमेंट सिस्टम, API इंटीग्रेशन सिस्टम, और उपयोगकर्ता सत्यापन और प्रमाणीकरण सहित अंतर्निहित सुरक्षा मॉड्यूल शामिल है।।

3. खुद का डेवेलपमेंट

फोरेक्स ब्रोकरेज प्रोजेक्ट को खुद डेवेलप करना और लॉन्च करना सभी अर्थों में ही काफी मेहनत वाला काम है, जिसमें वित्त, प्रोग्रामिंग और डिजाइन सहित विभिन्न क्षेत्रों के कई पहलुओं और बारीकियों के पूर्ण समर्पण और समझ की आवश्यकता होती है। 

फिर भी, पर्याप्त मात्रा में वित्तीय, श्रम और समय संसाधनों के साथ-साथ आवश्यक उपकरण और तकनीकी से सम्बंधित चीज़ों को देखते हुए, यह विधि आपको कंपनी की सभी संभावनाओं और रचनात्मकता का उपयोग करने की अनुमति देती है ताकि एक ऐसा उत्पाद बनाया जा सके जो इसमें अंतर्निहित व्यवसाय अवधारणा की सभी आवश्यकताओं को पूरा करता हो।

Forex broker technical infrastructure

शून्य से फोरेक्स ब्रोकरेज फर्म शुरू करने के लिए बुनियादी कदम

यदि आपके पास एक अच्छा बजट है, FX क्षेत्र का भरपूर ज्ञान है और उन उत्पादों और सोल्युशन्स के साथ काम करने का अच्छा अनुभव है जो पूंजी बाजार और विशेष रूप से FX बाजार तक पहुंच प्रदान करते हैं, तो आपको फोरेक्स ब्रोकरेज कंपनी कैसे खोलें का सवाल ज्यादा परेशां नहीं करेगा, क्योंकि इस मामले में, हम प्रोजेक्ट को स्वतंत्र रूप से लॉन्च करने के बारे में बात कर रहे हैं।

जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, फोरेक्स ब्रोकरेज सिस्टम का स्वयं डवेलपमेंट करना और कार्यान्वयन करना एक ऐसा कार्य है जिसके लिए सभी पहलुओं की सावधानीपूर्वक योजना की आवश्यकता होती है। इसे नीचे दिए गए चरणों का पालन करके पूरा किया जा सकता है:

1. बिजनेस में चुनना

फोरेक्स ब्रोकरेज हाउस के बिजनेस मॉडल को परिभाषित करना एक प्रारंभिक कदम है जो सीधे उसके भविष्य के काम को प्रभावित करेगा। इसमें यह निर्धारित करना शामिल है कि आप किस प्रकार का ब्रोकरेज चलाना चाहते हैं, किन बाज़ारों पर ध्यान केंद्रित करना चाहते है और कौन सी सेवाएँ प्रदान करना चाहते हैं। 

फोरेक्स ब्रोकरेज आमतौर पर दो मुख्य मॉडलों के तहत काम करता हैं: मार्केट मेकर और स्ट्रेट-थ्रू प्रोसेसिंग (STP)। मार्किट मेकर अपने ग्राहकों के ट्रेड्स पर प्रतिक्रिया देते हैं, जबकि एसटीपी ब्रोकर उन्हें सीधे लिक्विडिटी प्रोवाइडर तक पहुंचाते हैं।

2. लाइसेंसिंग और पंजीकरण

फोरेक्स बाजार में व्यवसाय शुरू करने के लिए, एक कंपनी को पंजीकृत करना और जरुरी लाइसेंस प्राप्त करना आवश्यक है। लाइसेंस एक महत्वपूर्ण कारक है जिसके बारे में ट्रेडर्स फोरेक्स ब्रोकर चुनते समय विचार करते हैं। 

विभिन्न न्याय क्षेत्रों में विभिन्न सरकारी नियामकों द्वारा लाइसेंस जारी किए जाते हैं। हालाँकि, किसी विशेष नियामक का चुनाव ब्रोकर के व्यवसाय के आकार, उसके बजट और अन्य कारकों पर निर्भर करता है। कानूनी दृष्टिकोण से, ब्रोकर का लाइसेंस दर्शाता है कि कौन सा नियामक उसकी गतिविधियों की देखरेख करता है, जो अंततः कंपनी की प्रतिष्ठा निर्धारित करता है।

3. कानूनी औपचारिकताओं को सुलझाना

इस स्तर पर, उस देश/क्षेत्र में काम करने के लिए कानूनी पहलुओं का अध्ययन और विश्लेषण किया जाना चाहिए जहां आपकी कंपनी काम करने की योजना बना रही है। इस कदम का महत्व कानूनी व्यवस्था और विनियमों के साथ-साथ वित्तीय सेवाएं प्रदान करने के पहलुओं की स्पष्ट समझ होना है, क्योंकि वे अलग-अलग देशों में काफी भिन्न हो सकते हैं।

4. इंफ्रास्ट्रक्टर का विकास और स्थापना

फोरेक्स ब्रोकरेज शून्य से शुरू करना एक काफी मेहनत वाला काम है जिसके लिए समय, धन और म्हणत के महत्वपूर्ण निवेश की आवश्यकता होती है। सब कुछ पूरा करने के लिए सभी आवश्यक घटकों को स्थापित करने के लिए पर्याप्त संसाधनों की आवश्यकता होती है। 

इसमें फोरेक्स कंपनी के इंफ्रास्ट्रक्टर को संभालना, इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सेवाएं स्थापित करना, एक ट्रेडिंग टर्मिनल विकसित करना, और अन्य प्रारंभिक गतिविधियों के बीच ऑर्डर मैचिंग और फोरेक्स ब्रोकर CRM के लिए एक मैचिंग इंजन स्थापित करना शामिल है। 

एक अन्य विकल्प व्हाइट लेबल मॉडल के साथ मौजूदा ब्रोकरेज एक्सचेंज इंफ्रास्ट्रक्चर का उपयोग करना है, जो काफी समय, धन और मेहनत बचाने में मदद कर सकता है।

5. लिक्विडिटी स्रोतों को जोड़ना

एक फोरेक्स ब्रोकर के रूप में, आपकी प्राथमिक जिम्मेदारी ग्राहकों को लिक्विडिटी प्रदान करना है। इसमें लिक्विडिटी प्रोवाइडर्स के साथ काम करना शामिल है जो इंटरबैंक मार्केट तक पहुंच प्रदान कर सकते हैं। लिक्विडिटी सप्लायर बैंक, वित्तीय संस्थान या अन्य ब्रोकरेज हाउस हो सकते हैं। 

हालांकि, एक प्रतिष्ठित और विश्वसनीय फोरेक्स ब्रोकर लिक्विडिटी प्रोवाइडर चुनना महत्वपूर्ण है जो प्रतिस्पर्धी मूल्य निर्धारण और तेजी से निष्पादन की पेशकश कर सके। 

एक भरोसेमंद लिक्विडिटी प्रोवाइडर के साथ साझेदारी यह सुनिश्चित कर सकती है कि ग्राहकों को सर्वोत्तम संभव ट्रेडिंग अनुभव प्राप्त हो, जिससे लाभप्रदता और ग्राहक संतुष्टि बढ़े।

6. मार्केटिंग और प्रमोशन

आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्टर स्थापित करने और व्यापक रिस्क मैनेजमेंट नीतियां तैयार करने के बाद, ब्रोकरेज शुरू करने की दिशा में अगला कदम एक शानदार ब्रांड पहचान बनाना, एक प्रभावी मार्केटिंग रणनीति विकसित करना और संभावित ग्राहकों तक पहुंचना है। 

इसे विभिन्न तरीकों से हासिल किया जा सकता है, जिसमें सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म का लाभ उठाना, सर्च इंजन परिणामों को अनुकूलित करना और ब्रोकरेज को बढ़ावा देने के लिए पेड एडवरटाइजिंग तकनीकों का उपयोग करना शामिल है।

निष्कर्ष

आजकल, फोरेक्स ब्रोकरेज कंपनी कैसे खोलें का सवाल काफी प्रासंगिक है क्योंकि फोरेक्स जगत की लोकप्रियता नई प्रौद्योगिकियों और पैसे कमाने के तरीकों के विकास के लिए उत्प्रेरक बनती जा रही है, जिससे कंपनियों को नए सोल्युशंस विकसित करना और लागू करना, बाज़ारों में व्यापार की प्रक्रिया से संबंधित नए समाधान विकसित करने और लागू करने के लिए कंपनियों को प्रोत्साहन देना, हर दिन अधिक निवेशकों और व्यापारियों को आकर्षित करना शामिल हैं।

इसलिए, अपनी फोरेक्स ब्रोकरेज प्रोजेक्ट शुरू करने से इस बाजार में मूल्यवान अनुभव प्राप्त करने और बिज़नेस प्लान, मार्केटिंग, ट्रेडिंग सिस्टम और प्रोग्रामिंग सहित कई क्षेत्रों में ज्ञान प्राप्त करने, एक विश्वसनीय और प्रतिस्पर्धी FX कंपनी बनाने की अनुमति मिलती है।

एक कड़ी मेहनत करने वाले, लक्ष्य-उन्मुख और सर्वगुण संपन्न व्यक्ति के रूप में, मैं हमेशा अपने हर काम में गुणवत्तापूर्ण काम करने का प्रयास करता हूं। जीवन में चुनौतीपूर्ण कार्यों का सामना करते हुए, मैंने समस्याओं को हल करने के लिए तर्कसंगत और रचनात्मक रूप से सोचने की आदत विकसित की है, जो न केवल मुझे एक व्यक्ति के रूप में, बल्कि एक पेशेवर के रूप में भी विकसित होने में मदद करती है।

और पढ़ेंLinkedin

शुद्धिकारक

Tamta Suladze

तमता जॉर्जिया में स्थित एक कंटेंट राइटर है, जिसके पास समाचार आउटलेट, ब्लॉकचेन कंपनियों और क्रिप्टो व्यवसायों के लिए वैश्विक वित्तीय और क्रिप्टो बाजारों को कवर करने का पांच साल का अनुभव है। उच्च शिक्षा की पृष्ठभूमि और क्रिप्टो निवेश में व्यक्तिगत रुचि के साथ, वह नए क्रिप्टो निवेशकों के लिए जटिल अवधारणाओं को आसानी से समझने वाली जानकारी में तोड़ने में माहिर हैं। तमता का लेखन पेशेवर और प्रासंगिक दोनों है, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि उसके पाठकों को मूल्यवान अंतर्दृष्टि और ज्ञान प्राप्त हो।

और पढ़ेंLinkedin
शेयर